एंटरप्रेन्योर बनने का सपना पूरा

business-analyst-job-description
एंटरप्रेन्योर बनने का सपना पूरा

यदि आप मैथमेटिकल बैकग्राउंड से हैं और डाटा एनालिस्ट संबंधी कोई कोर्स किया है तो आपकी राह अधिक आसान होगी..यह स्टार्टअप हो सकते हैं आपके लिए मददगार

on 10 March 2019, 10:30 AM
  • business analysis
  • business analyst job description
  • role of business analyst
एंटरप्रेन्योर बनने का सपना पूरा

वर्ष 2020 तक इकॉमर्स प्लेटफॉर्म पर इंडियन कंज्यूमर्स की संख्या 350 मिलियन होने का अनुमान लगाया गया है। जो कि कुल जनसंख्या का करीब 36 फीसद ही रहेगा। ई-कॉमर्स कंपनियों के लिए यह बढ़ता नंबर फायदेमंद साबित होगा। ऐसे ही कंपनियों के लिए कस्टमर की बढ़ती संख्या चिंता का कारण भी बन रही है उनके प्लेटफार्म पर लगातार कस्टमर का इजाफा होने उनके पास कस्टमर का डाटा बैंक भी बढ़ रहा है। इंडिया में डाटा साइंटिस्ट की कमी है इसलिए कॉमर्स कस्टमर डाटा इस्तेमाल नहीं कर पा रही है। ऐसे युवाओं के लिए डाटा एनालिसिस फॉर्म एक बेहतरीन स्टार्टअप ऑप्शन बन सकता है।

यह स्टार्टअप हो सकते हैं आपके लिए मददगार

  • फील्ड में एंट्री लेने से पहले आपका ऐसे स्टार्टअप के बारे में जानना आवश्यक है, जो इस फील्ड में लंबे समय से काम कर रहा है इनमें रेजर थिंक, थे मैथ कंपनी, एनालिटिक्स ऐज, टर्निंग एनालिटिक्स, क्रोपिन, ज्ञानदाता जैसी कंपनियां सम्मिलित है। इन इंडियन कंपनियों के क्लाइंट में ग्लोबल ब्रांड शामिल है जिसमें कोका कोला, महिंद्रा, आईटीसी बिग बास्केट, फिलिप्स सहित बैंकिंग व फाइनेंस सेक्टर से जुड़े सरकारी कंपनियां भी इन की प्ले लिस्ट में शामिल है। यह सभी कंपनियां डाटा एनालिटिक्स सॉल्यूशन के साथ और भी कई बिजनेस सॉल्यूशंस प्रोवाइड करा रही है। डाटा एनालिटिक्स फर्म की उपयोगिता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इन सभी इंडियन स्टार्टअप के क्लाइंट लिस्ट में 50% ग्लोबल ब्रांड शामिल है।
  • डाटा ग्लोबली कंपनियों के साथ आम जनजीवन की भी इक्वेशन को बदल रहा है। वर्तमान में हम प्रतिदिन 2.5 क्विंटीलियन बाइट्स डेटा जनरेट कर रहे हैं। एक्सपर्ट्स का अनुमान है कि वर्ष 2020 तक धरती पर रेत के जितने कण है उससे 4 गुना से ज्यादा डिजिटल डेटा जेनेरेट हो जाएगा। इंडिया जैसी बिग पॉपुलेशन कंट्री की ग्रोथ के लिए डिजिटल डाटा और इसके एनालिस्ट कि अधिक संख्या में जरूरत है। प्राइवेट कंपनियां जहां डिजिटल डाटा का उपयोग अपने फायदे के लिए कर रही है वहीं गवर्नमेंट के लिए डिजिटल डाटा सरकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाने के लिए कारगर साबित हो रहा है।
  • इंडिया में ecommerce आने के बाद से एनालिस्ट कंपनियों की जरूरत महसूस होने लगी थी। ऐसे एनालिटिक्स फर्म अब भी डिमांड में है। इसलिए यंग enterprenure के लिए इस एनालिटिक्स का स्टार्टअप उनके ड्रीम को पूरा करने वाला साबित हो सकता है। यह एक चुनौतीपूर्ण लेकर डिमांडिंग फील्ड है क्योंकि यहां एक्सपोर्ट्स की कमी है

एक अच्छा लीडर बनने के लिए सब के बारे में सोचना होगा

  • सबसे बड़ी चुनौती है टीम बनाना। डेटा एक्सर्ट की टीम के बिना क्लाइंट डाटा पर काम करना मुश्किल है इसके अलावा जिस भी कंपनी के लिए आप काम कर रहे हैं। उसके डेटा की सिक्योरिटी भी आज के दिन सबसे बड़ा चैलेंज है वहीं लीगल ईशु पर वर्क आउट करना भी किसी डाटा एनालिटिक्स फर्म के लिए चैलेंजिंग टास्क होता है।
  • डाटा एनालिस्ट के लिए देश के कई एजुकेशन इंस्टीट्यूशंस कोर्स करवा रहे हैं। इसमें शार्ट और long-term दोनों तरह के कोर्स है। इनमें एडवांस सर्टिफिकेट प्रोग्राम इन बिजनेस एनालिटिक्स, एग्जीक्यूटिव प्रोग्राम इन बिजनेस, एनालिटिक्स एडवांस बिजनेस, एनालिटिक्स एवं बिजनेस ऑप्टिमाइजेशन प्रोग्राम, मास्टर्स इन मैनेजमेंट आदि कोर्स है।
  • हावर्ड बिज़नेस के अनुसार किसी कंपनी के लिए जरूरी है कि वह वन टाइम विजिट कस्टमर को बिहैवियर के अनुसार सर्विस ऑफर कर उसे वापस अपने प्लेटफार्म पर लाए इसके लिए आवश्यकता है डाटा को एनालिसिस करने की, जिसमें एक डेटा एनालिस्ट उपयोगी साबित होता है वह कंपनी की ओर से उसे प्रोवाइड कराये गए डेटा पर रिसर्च कर उसमें से रिजल्ट जनरेट करता है। वह बताता है कि कंपनी को कौन सा प्रोडक्ट कस्टमर को अट्रैक्ट कर रहा है। इन जानकारियों की मदद से कंपनियां बिजनेस प्लान में बदलाव करती है जो कि कंपनियों के ग्रोथ में मदद करता है।